अपनो से धोखा खा चुके राजभर ने भंग की सुभासपा कार्यकारिणी, अगस्त में बड़े फैसले

77
SHARE

बीते लोकसभा चुनाव में हार के कारणों की गहन समीक्षा के बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने पाया है कि पार्टी के ही कुछ लोगों ने धोखा किया। इसीलिए मंगलवार को पार्टी की पूरी कार्यकारिणी को ही भंग कर दिया। इस फैसले के बाद पार्टी महासचिव अरविंद राजभर ने साफ कहा कि लोकसभा चुनावों में पार्टी के कुछ नेताओं ने अन्य दल के प्रत्याशी का प्रचार किया।


बलिया के रसड़ा में हुई सुभासपा की आपात बैठक में ऐसे लोगों को सबक सिखाने और पार्टी को आगे किसी तरह के भितरघात से बचाने के लिए पार्टी की प्रदेश, मंडल और जिला कार्यकारिणी को भंग कर दिया। अगस्त में किसी दिन पार्टी की बैठक होगी और उसमें नई कार्यकारिणी का गठन किया जाएगा। नई कार्यकारिणी में वही लोग होंगे जो पार्टी के लिए पूरी तरह समर्पित और विश्वसनीय होंगे। 


सुभासपा यूपी में 13 सीटों पर होने वाले उपचुनावों को लेकर भी कमर कस चुकी है। पार्टी इन सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी। पार्टी स्तर पर प्रचार का कार्य भी शुरू हो चुका है। अरविंद राजभर के मुताबिक सुभासपा यूपी में आगामी पंचायत चुनावों और 2022 के विधानसभा चुनावों में भी पूरी तैयारी के साथ हिस्सा लेगी।


क्या किसी पार्टी के साथ गठबंधन किया जाएगा, इस सवाल के जवाब में अरविंद राजभर ने कहा कि भाजपा के साथ अब गठबंधन संभव नहीं लेकिन सपा, बसपा या कांग्रेस के साथ गठबंधन की संभावनाएं बनी हुई हैं। इस सिलसिले में प्रयास जारी हैं और वक्त आने पर उसका खुलासा कर दिया जाएगा।