उपेंद्र कुशवाहा के लिए जेड प्लस सुरक्षा की मांग, कुशवाहा और सुशील मोदी में सोशल मीडिया पर वार-पलटवार

10
SHARE

बिहार में पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा के लगातार आंदोलनों से उनकी पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी और सत्ताधारी बीजेपी-जेडीयू के बीच घमासान तेज होता जा रहा है। बीजेपी ने रालोसपा के सोमवार को आयोजित बिहार बंद को चुनावी स्टंट करार दिया वहीं आरएलएसपी की तरफ से अपने अध्यक्ष के लिए जेड प्लस सुरक्षा की मांग की गई है।
बिहार में 4 फरवरी के बंद का मिलाजुला असर रहा था। रालोसपा ने बंद को सफल बताया और कहा कि उसके शिक्षा सुधार संकल्प को महागठबंधन औऱ आम जन का पूरा समर्थन मिला। वहीं बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट कर कहा कि रालोसपा के बिहार बंद को जनता का समर्थन नहीं मिला इसीलिए तेल पिलाई लाठियों का इस्तेमाल कर जगह-जगह उत्पात किया गया।
सुशील मोदी ने उपेंद्र कुशवाहा पर जानलेवा हमले के दावे को गलत बताते हुए कहा कि यह दावा इतना खोखला था कि पीड़ित को एक दिन में ही अस्पताल से छुट्टी मिल गई। उनके ऐसे ट्वीट पर उपेंद्र कुशवाहा ने जवाब दिया कि आम लोग कामना कर रहे थे कि अस्पताल से उन्हें जल्दी छुट्टी मिले लेकिन आपको यह पसंद नहीं आया। सोशल मीडिया पर इस वार-पलटवार के बीच रालोसपा ने अपने मुखिया उपेंद्र कुशवाहा के लिए जेड प्लस सिक्योरिटी की मांग कर दी है। पार्टी का कहना है कि कुशवाहा को जेड प्लस सुरक्षा अवश्य मिलनी चाहिए।