कोरोना अपडेट व उत्तर प्रदेश की अन्य बड़ी खबरें

142
SHARE

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के 155 नए मामलों के साथ कोराना संक्रमण के कुल 3214 केस हो गए हैं। कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों की संख्या 1387 हो गई है जबकि मृतकों की कुल संख्या 66 हो गई है।

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोरोना संकट की वजह से दूसरे राज्यों में फंसे श्रमिकों से अपील की है कि ‘खुद के स्वास्थ्य और सुरक्षा के नाते कोई भी मजदूर पैदल, साइकिल या दोपहिया वाहन से अपने घर के लिए न निकले’। उन्होंने भरोसा दिलाया है कि धैर्य रखें सरकार उन तक जल्दी ही पहुंचेगी।

अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने शुक्रवार को जानकारी दी कि अब तक 69 ट्रेनें करीब 30 हजार प्रवासी मजदूरों को लेकर राज्य में आ चुकी हैं। आने वाले दिनों में यह संख्या और भी बढ़ेगी।

बसपा अध्यक्ष मायावती ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र और राज्य सरकारें प्रदेश के प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के लिए बेहतर व्यवस्था करें. उन्होंने कहा कि एक तरफ तो कोचिंग में पढ़ने वाले अमीरों के छात्रों के लिए विशेष बसें और विदेशों में फंसे अमीर लोगों के लिए विशेष विमान भेजे जा रहे हैं, दूसरी तरफ गरीब मजदूर पैदल ही अपने घर वापस आ रहे हैं। उन्होंने शुक्रवार सुबह औरंगाबाद में मजदूरों के ट्रेन से कुचल जाने की घटना पर भी गहरा दुख व्यक्त किया।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा है कि लाखों गरीब मजदूर यूपी/बिहार के है जो अन्य राज्यों में कठिन दौर से गुज़र रहे है,वह लोग अपने घर आना चाहते है,और सरकार इस परिस्थिति में भी गरीबों,मजदूरों से ट्रेन का भाड़ा ले रही,सरकार के दोहरे चरित्र को उजागर हो गया।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने एक अध्यादेश के द्वारा मज़दूरों को शोषण से बचानेवाले  ‘श्रम-क़ानून’ के अधिकांश प्रावधानों को 3 साल के लिए स्थगित कर दिया है. ये बेहद आपत्तिजनक व अमानवीय है। उन्होंने कहा है कि श्रमिकों को संरक्षण न दे पाने वाली ग़रीब विरोधी भाजपा सरकार को तुरंत त्यागपत्र दे देना चाहिए।