जानिए रानू मंडल को मशहूर करने वाले असली हीरो कौन हैं

47
SHARE

आजकल रानू मंडल नई इंटरनेट सेंसेशन बन गई हैं। अपनी मधुर आवाज से करोड़ों दिलों को जीतने वाली रानू मंडल की कहानी बिल्कुल फिल्मों जैसी है और वह रातों-रात स्टार बन गई हैं। पश्चिम बंगाल में रेलवे स्टेशन पर गाना गाकर गुजारा करने वाली इस महिला की जिंदगी इंटरनेट ने पूरी तरह से बदल दी है। उनका एक वीडियो वायरल हुआ और उनकी मधुर आवाज लोगों को इतनी पसंद आई कि आज उनके पास फिल्मों के ऑफर से लेकर स्टेज पर गाने के ढेरों ऑफर हैं।

रानू मंडल की जिंदगी कुछ ही दिनों में पूरी तरह से बदल गई है। अब उन्हें बॉलीवुड सिंगर और कंपोजर, एक्टर हिमेश रेशमिया ने अपनी फिल्म हैप्पी, हार्डी एंड हीर में गाने का मौका दिया है और रानू टीवी के मंच पर भी दिख चुकी हैं। हिमेश रेशमिया ने रानू के टैलेंट को पहचाना और उसे निखारने में बड़ा योगदान दिया। लेकिन रानू मंडल को असल में सबके सामने लाने वाले कोई और हैं। इनका नाम है अतींद्र चक्रबर्ती। अतीन्द्र कोई बॉलीवुड के स्टार या प्रोड्यूसर नहीं बल्कि एक सामान्य 26 साल के युवक हैं।  

अतीन्द्र ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। उन्होंने ही पश्चिम बंगाल के रानाघाट स्टेशन पर रानू मंडल को गाना गाते देखा। अतीन्द्र ने रानू मंडल के गाने का वीडियो मोबाइल फोन से रिकॉर्ड किया और उसे सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया।


अतीन्द्र का पोस्ट किया यह वीडियो वायरल हो गया और फिर तो लोगों को रानू मंडल की आवाज इतनी पसंद आई कि हर कोई उनकी आवाज का दीवाना हो उठा। इसके बाद की कहानी आपसे छिपी नहीं है। पश्चिम बंगाल के नादिया जिले में जन्मी रानू मारिया मंडल के माता-पिता की मौत बचपन में ही हो गई थी। उन्हें उनकी आंटी ने पाला।



अब 60 के लगभग उम्र की रानू मंडल के परिवार में उनके पति और एक बेटी है। पति बबलू मंडल काफी वक्त से अलग रह रहे थे लेकिन रानू मंडल के मशहूर होने के बाद अब वह वापस आ गए हैं।

मशहूर होने के बाद रानू मंडल का मेकओवर भी किया गया है जिसके बाद पहले वाली और अब की रानू मंडल के लुक में अंतर साफ नजर आता है। फ्रेंड्स, आपने भी रानू मंडल के गाने सुने हैं तो आपको यह कैसे लगे और रानू की अचानक बदली किस्मत पर आपका क्या कहना है, कमेंट करके हमें भी बताएं।