बलिया में राजभर और कुशवाहा ने दिखाई ताकत, पांच दलों के नए मोर्चे की पहली रैली में उमड़ा जनसैलाब

34
SHARE

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी, जन अधिकार पार्टी समेत पांच पार्टियों के हाल ही में बने भागीदारी संकल्प मोर्चा ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के बलिया में अपना शक्ति प्रदर्शन किया। शनिवार 14 दिसंबर को हुई भागादारी संकल्प मोर्चा की इस पहली रैली को काफी हद तक अपने मकसद में कामयाब कहा जाएगा क्योंकि इसमें लोगों का भारी हुजूम उमड़ा था।

बलिया के सुरखपुरा में हुई इस रैली में सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर, अरविंद राजभर, अरुण राजभर समेत पार्टी के तमाम नेता शामिल हुए। जन अधिकार पार्टी से इसके अध्यक्ष बाबू सिंह कुशवाहा, आईपी सिंह समेत तमाम नेता और कार्यकर्ता शामिल हुए। इनके अलावा राष्ट्रीय उदय पार्टी, राष्ट्रीय उपेक्षित समाज पार्टी और जनता क्रांति पार्टी के भी तमाम नेता और कार्यकर्ता शामिल हुए।

इस रैली को संबोधित करते हुए जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व कैबिनेट मंत्री बाबू सिंह कुशवाहा ने कहा कि महारैली में जिस तरह से जनसैलाब उमड़ा है उससे लगता है कि वंचित समाज अपना हक लेने के लिए जाग उठा है। उन्होंने कहा कि तमाम सियासी दलों ने आजादी के 73 साल बाद तक भी जनता को फिजूल के मुद्दों में बहकाए रखा है और उनका हक छीना है। अब भागीदारी संकल्प मोर्चा ऐसे राजनीतिक दलों का विकल्प बनेगा।

महारैली को संबोधित करते हुए सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि भागीदारी संकल्प मोर्चा अतिपिछड़ी जातियों को उनका अधिकार दिलाने के लिए लड़ता रहेगा। उन्होंने कहा कि आरक्षण में संख्या के आधार बंटवारा होना चाहिए।

बलिया की रैली से मोर्चे के सभी नेता जोश में दिखे। जल्दी ही राज्य के अन्य जिलों में भी मोर्चा की तरफ से ऐसी रैलियों का आयोजन किया जाएगा।