श्रमिकों को लेकर यूपी के लिए चली पहली श्रमिक स्पेशल ट्रेन व अन्य बड़ी खबरें

23
SHARE

महाराष्ट्र के नासिक से यूपी के प्रवासी कामगारों को लेकर श्रमिक स्पेशल ट्रेन लखनऊ के लिए रवाना हो चुके है। इस ट्रेन में 839 मजदूर सवार हुए हैं। इस ट्रेन से 3 मई की सुबह तक लखनऊ पहुंचने की संभावना है। लखनऊ आने के बाद सभी लोगों की स्क्रीनिंग कराई जाएगी और स्वस्थ पाए गए लोगों को घर भेजने की व्यवस्था की जाएगी।

श्रमिक स्पेशल ट्रेन से यात्रियों की जांच, भोजन पानी और घर तक जाने या क्वारेंटाइन सेंटर जाने की व्यवस्था राज्य सरकार की है। इन स्पेशल ट्रेनों में एसी डिब्बे नहीं हैं। लॉकडाउन में फंसे हुए श्रमिक, छात्र एवं तीर्थयात्री इन ट्रेनों से भेजे जा रहे हैं।

समाजवादी पार्टी ने कहा है कि उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक माह पूर्व ही कहा था कि प्रवासी मजदूरों के लिए स्पेशल ट्रेन चलाई जाए किंतु कान में अहंकार की रूई डाले बैठी सरकार ने सुना नहीं। अब अपनी विफलता का शोर मचाने के बजाए श्रमिकों से माफी मांगे सरकार। सभी की जांच के बाद सावधानीपूर्वक सुनिश्चित हो घर वापसी।

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने श्रमिकों की वापसी के लिए योगी सरकार के कदमों पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने एक अखबार का हवाला देते हुए कहा है कि यूपी सरकार द्वारा जो नोडल अफसरों का नंबर दिया गया था, अख़बार की पड़ताल में 37 नम्बर में से 1 भी नंबर सही नहीं मिला। उन्होंने मुख्यमंत्री से अपील की है कि अन्य राज्यों में फंसे यूपी के गरीब-मजदूरो को  स्पेशल ट्रेन,निशुल्क बस चलाकर जल्द उनके घर पहुंचाएं,अब सब्र का बांध टूट रहा है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फ्रंट लाइनर्स के स्वास्थ्य, प्रदेश में कोरोना वायरस की स्थिति व स्वास्थ्य संबंधी आवश्यक उपकरणों की आपूर्ति हेतु, COVID-19 के संबंध में गठित समितियों के अध्यक्षों के साथ समीक्षा बैठक की। यह बैठक लखनऊ स्थित उनके सरकारी आवास पर हुई।

अपना दल की अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल ने यूपी के ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा के नेतृत्व में मंडल के सभी जनप्रतिनिधियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग बैठक में हिस्सा लिया। उन्होंने अपने संसदीय क्षेत्र मीरजापुर की जनता की विद्युत विभाग से सम्बंधित समस्याओं से उन्हें अवगत कराया और जनहित हेतु अपने कुछ सुझाव भी रखे।