तीनों फाॅर्मेंट के एक ही कप्तान होना चाहिए : धोनी

22
SHARE
महेंद्र सिंह धोनी ने कहा तीनों फाॅर्मेंट के एक ही कप्तान होना चाहिए| इस दौरान उन्होंने साथी खिलाड़ियों को बताया, “अगले टी20 आैर वनडे वर्ल्ड कप में एक ही कप्तान हो, इसलिए अभी अलग हो गया, ताकि बोर्ड जल्द से जल्द नया कप्तान बना दे। अगर मैं नहीं हटता तो मामला अटका रहता।” नौ साल से टीम इंडिया के कप्तान रहे महेंद्र सिंह धोनी ने वनडे और टी20 की कप्तानी भी छोड़ दी है। हालांकि, वे टीम में बने रहेंगे। बीसीसीआई ने बुधवार को इसकी घोषणा की। धोनी अभी नागपुर में झारखंड की रणजी टीम के साथ हैं। कप्तानी छोड़ने की घोषणा के बाद रणजी टीम के सभी खिलाड़ी धोनी से मिलने पहुंचे|
बुधवार को गुजरात से रणजी के सेमीफाइनल मैच में हारने के बाद धोनी ने अपने रूम में गेट टुगेदर पार्टी का इंतजाम किया था। रात के साढ़े आठ बजे सभी खिलाड़ी उनके रूम में पहुंचे। इसी दौरान टीम के कप्तान सौरभ तिवारी ने पूछा, “भैया कप्तानी क्यों छोड़ दी?” इस पर धोनी बोले- “मैंने द. अफ्रीका टूर में ही कह दिया था कि तीनों फाॅर्मेंट के एक ही कप्तान होना चाहिए। अगले टी20 आैर वनडे वर्ल्ड कप में एक ही कप्तान हो, इसलिए अभी अलग हो गया, ताकि बोर्ड जल्द से जल्द नया कप्तान बना दे। अगर मैं नहीं हटता तो मामला अटका रहता।” इसके बाद एक खिलाड़ी ने पूछा कि क्या इतनी जल्दी हटना सही था? इस पर धोनी बोले, “जिदंगी में बहुत सारे मोड़ आते रहते हैं। पर हर फैसला ठंडे दिमाग से किया। जो किया वह सौ फीसदी सही है। अब तुम लोग आगे जाआे।”
झारखंड टीम के मैनेजर पीएन सिंह ने बताया कि धोनी काफी समय तक हमारे साथ ही थे। वहीं, उन्होंने कहा भी कि कभी न कभी तो कप्तानी छोड़नी ही थी। तीनों फॉर्मेंट में एक ही कप्तान रहेगा तो टीम को लेकर चलेगा। झारखंड के कोच आैर धोनी के साथ रणजी खेल चुके राजीव कुमार राजा ने बताया कि शाम तक हममें से किसी को नहीं पता था कि वे कप्तानी छोड़ने वाले हैं।”टीवी पर खबर आई और मैंने जाकर पूछा तो बोले, हां राजा मैंने कप्तानी छोड़ दी है। पर क्रिकेट खेलता रहूंगा। फैसले के बाद भी उनके चेहरे पर कोई शिकन नहीं थी। पार्टी में खूब मस्ती की। खिलाड़ियों के साथ गाना भी गाया और सेल्फी भी लेते रहे|”
धोनी झारखंड टीम के मेंटर हैं। टीम पहली बार सेमीफाइनल में पहुंची। दोपहर तक वह फाइनल में पहुंचती लग रही थी। जीतने के लिए सिर्फ 235 रन बनाने थे। मगर मैच के चौथे दिन ही दूसरी पारी में 111 पर आउट होकर गुजरात से हार गई। फिर भी धोनी ने टीम को अपने रूम में पार्टी दी|
2019 में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप से पहले पद छोड़ा, ताकि नए कप्तान को पूरा समय मिले। अपने खराब प्रदर्शन से दबाव में थे। इंग्लैंड के खिलाफ खराब खेलते तो इस्तीफे का दबाव बनता। अश्विन और जडेजा भी सभी फॉर्मेट में कोहली को कप्तान बनाने के पक्ष में थे। लिहाजा, धोनी खुद ही हट गए|