Wednesday, February 26, 2020

जरा हट के

एक नहीं पांच शरीर हैं हमारे, जानिए कौन से

हमारेपांचप्रकारकेशरीरहैं।हमारापहलाशरीरहमारावातावरणहै।अगरवातावरणज़हरीलाहोतोहमारायहशरीरउसमेंनहींरहसकता।इसेअन्नरसमयकोषकहतेहैं।भोजनकेवलवहीनहींहैजोहमखातेहैं।फेफड़ोंकेलिएहवाभोजनहै।पानीभीहमारेइसशरीरकेलिएएकभोजनहै।ऊष्माभीएकतरहकाभोजनहै।अगरहम -40 डिग्री सेल्सियस केतापमानमेंहैंतोचाहेजितनाभीभोजनक्योंनाहोहमजीवितनहींरहपाएंगे।इसलिएतापभीहमारेलिएभोजनहै।आनंदऔरशांतिहमारीआत्माकेलिएभोजनहै। दूसरा है प्राणमय कोष, प्राण उर्जा। आप अनुभव कर सकते हैं कब उर्जा कम है और कब उर्जा अधिक है।...

अखिलेश’ को जरूर मिले डेवलपमेंट की क्रेडिट

यूं तो उत्तर प्रदेश को राजनीति का अखाड़ा इसलिए ही कहा जाता है, क्योंकि यहाँ इसके तमाम नए-पुराने दांव एक दुसरे पर आजमाए ही...

वैज्ञानिकों ने 600 साल पुराने मर्डर मिस्ट्री को सुलझाया!

ऑस्ट्रेलियाई वैज्ञानिकों ने एक आदिवासी व्यक्ति की हत्या के 600 वर्ष पुराने रहस्य को सुलझाने का दावा किया है। उन्होंने संकेत दिया है कि...

यूनाइटेड नेशन में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की दहाड़: कहा पाकिस्तान छोड़ दे कश्मीर...

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 71वें सत्र को संबोधित करते हुए विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि दुनिया के सामने साफ कर दिया कि जम्मू-कश्मीर...
- Advertisement -
loading...