Ground Breaking Ceremony 2 – गृहमंत्री अमित शाह ने लखनऊ में ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी 2 का उद्घाटन किया, राज्य में लाखों नई नौकरियों का रास्ता खुला

25
SHARE

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार राज्य के औद्योगिक विकास के दूसरे चरण की तरफ कदम बढ़ा रही है। पिछले साल लखनऊ में हुई प्रथम इन्वेस्टर्स समिट के अनुबंधों को मूर्त रूप देने के लिए अब ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 आयोजित की गई है। लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में गृहमंत्री अमित शाह ने दीप जलाकर कार्यक्रम की शुरुआत की। इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और राज्यपाल राम नाईक समेत तमाम गणमान्य लोग और उद्योगपति मौजूद थे।


समारोह में गृह मंत्री अमित शाह ने 65 हजार करोड़ के निवेश की 290 परियोजनाओं की नींव रखी। इसके बाद देश के बड़े औद्योगिक घरानों ने जैसे नौकरियों की बौछार कर दी। मेदांता ग्रुप ने 15 हजार, लूलू इंटरनेशनल ने 5 हजार और पेप्सिको इंडिया ने 1500 लोगों को नौकरी देने की घोषणा की। बताते चलें कि लखनऊ में एक हजार बेड के मेदांता अस्पताल का 15 अक्टूबर को लोकार्पण किया जाना है।


इस मौके पर मेदांता के डॉ. नरेश त्रेहन ने कहा कि वह लखनऊ के पढ़े हुए हैं, यह उनका प्रोफेशनल जन्म स्थान है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार निवेशकों की मदद कर रही है। महज ढाई साल में लखनऊ मेदांता अस्पताल तैयार किया गया है। 15 हजार लोगों को मेदांता लखनऊ से रोजगार मिलेगा। उनका कहना था कि यूपी में कानून व्यवस्था बहुत अच्छी है। लखनऊ के बाद नोएडा, गोरखपुर और वाराणसी में भी मेदांता अस्पताल खोले जाएंगे। नोएडा में आज 700 बेड के मेदांता अस्पताल का शिलान्यास किया जा रहा है।


यूपी में पेप्सिको इंडिया 514 करोड़ का निवेश करेगा। पेप्सिको इंडिया के सीईओ अहमद अल शेख ने कहा कि हम 2022 तक स्नैक्स बिजनेस को दोगुना करेंगे। यूपी में स्नैक्स विनिर्माण संयंत्र लगाया जाएगा। दुबई के बड़े समूह लूलू इंटरनेशनल के यूसुफ अली ने कहा कि हम लखनऊ में एशिया का सबसे बड़ा शॉपिंग मॉल बना रहे हैं। इसके अलावा समूह की उत्तर प्रदेश में फूड प्रोसेसिंग की यूनिट लगाने का भी प्लान कर रहे है।


समारोह में अपने संबोधन में सीएम योगी ने कहा कि 21, 22 फरवरी 2018 को यूपी इन्वेस्टर समिट में प्रधानमंत्री मोदी जी का मार्गदर्शन और प्रेरणा प्रदेश की जनता को मिली। इन्वेस्टर समिट के 5 महीने में ही 62 हजार करोड़ के निवेश को धरातल पर उतारने की कार्य योजना हम लोगों ने बनाई। आज बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और गृहमंत्री के रूप में अमित शाह जी का मार्गदर्शन मिल रहा है।


इस समारोह में में राज्य के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहा कि योगी सरकार की कोशिशों की बदौलत प्रदेश में आज निवेश का माहौल बना है। यूपी की छवि बदल रही है। उन्होंने कहा कि बैंगलौर व हैदराबाद की तरह यूपी भी आईटी हब के रूप में विकसित होगा। उन्होंने बताया कि अब तक जो भी निवेश हुआ उनमें से 81 उद्योगों ने काम करना शुरू कर दिया है।


इस समारोह में गृहमंत्री अमित शाह जिन 290 निवेश परियोजनाओं की नींव रखी, उनमें सर्वाधिक 158 प्रोजेक्ट पश्चिम यूपी में स्थापित होंगे। इन परियोजनाओं से 38,359 करोड़ रुपये का निवेश होगा जो कुल निवेश 65 हजार करोड़ के आधे से अधिक है। इसके बाद 54 प्रोजेक्ट मध्यांचल में स्थापित होंगे। इनसे 9,068 करोड़ का निवेश होगा। इसके बाद पूर्वांचल में 5,580 करोड़ के 38 प्रोजेक्ट स्थापित होंगे। 11 प्रोजेक्ट बुंदेलखंड के लिए हैं, इन पर 2,634 करोड़ का निवेश होगा। 9216 करोड़ के 29 प्रोजेक्ट राज्य के विभिन्न हिस्सों में स्थापित होंगे। इन कदमों से राज्य में रोजगार के ढेरों मौके पैदा होंगे।

पिछले साल के समारोह से जुड़े 81 प्रोजेक्ट से 2.06 लाख नए रोजगार और अब आज रविवार को जिन 290 परियोजनाओं का शिलान्यास हो रहा है, उससे भी दो लाख से अधिक रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे। इस तरह जैसे-जैसे ये 371 प्रोजेक्ट पूरे होंगे प्रदेश में चार लाख से अधिक लोगों को रोजगार मिलता जाएगा।