अपनी ही सरकार के खिलाफ अनशन करने जा रहे योगी के मंत्री

49
SHARE

योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ओमप्रकाश राजभर अपनी ही सरकार और सहयोगी पार्टी बीजेपी पर लगातार हमलावर हैं। बीजेपी के कई नेताओं के समझाने के बाद भी वह शांत होने की बजाय और उग्र हो रहे हैं, वह अब अपनी ही सरकार के खिलाफ अनशन पर बैठने जा रहे हैं।

सोमवार 17 दिसंबर को वाराणसी पहुंचे ओमप्रकाश राजभर ने केंद्र और यूपी की बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोला। उनका कहना था कि पिछड़ों को मिल रहे 27 फीसदी आरक्षण में कैटेगरी बनाने का वादा पूरा नहीं करने का खामियाजा बीजेपी को चुनाव में भुगतना होगा। उनकी पार्टी पिछड़ी जाति के लिए 27 फीसदी आरक्षण में कैटेगरी की मांग को लेकर 24 दिसम्‍बर से प्रदेश के सभी जिलों में क्रमिक अनशन शुरू करने जा रही है।

पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव से बीजेपी को मिले जख्मों को कुरेदते हुए राजभर ने कहा कि राज्य में सपा और बसपा का गठबंधन हुआ तो बीजेपी यूपी से साफ हो जाएगी। उनका कहना था कि अगर आरक्षण में बंटवारा कर देते हैं तभी लड़ाई में आ सकते हैं, लेकिन क्‍या होगा मालूम नहीं।

लगातार बीजेपी की आलोचना करने और फिर भी बीजेपी के साथ बने रहने के सवाल पर ओमप्रकाश राजभर का कहना था कि 125 सीटों पर एनडीए की जीत में उनकी पार्टी की भूमिका रही है इसीलिए भागेंगे नहीं। उन्होंने यह भी बताया कि गाजीपुर में 29 दिसम्‍बर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा के लिए उन्हें निमंत्रण नहीं मिला है और न ही वह उसमें जाएंगे।

ओमप्रकाश राजभर ने बीजेपी पर राजभर समाज के वोटरों को प्रभावित करने का भी आरोप लगाया। उनका कहना था कि गाजीपुर में प्रधानमंत्री मोदी की रैली सिर्फ राजभर समाज के वोटरों को लुभाने के लिए हो रही है। उन्होंने सुहेलदेव के नाम पर डाक टिकट जारी करने को भी समीकरण साधने की कोशिश करार दिया।