अपना दल को मिलीं दो सीटें, राजभर की सुभासपा को मिल सकती हैं इतनी

240
SHARE

लोकसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद उत्तर प्रदेश में भाजपा के सहयोगी दल सीटों के बंटवारे को लेकर दबाव बनाए हुए थे और अब भाजपा ने यह प्रक्रिया शुरू कर दी है। भाजपा और अपना दल के बीच गठबंधन का ऐलान हो गया है और खुद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है।


पिछली बार यानी 2014 के चुनाव में दो सीटों पर लड़कर जीतने वाला अपना दल इस बार 10 सीटों पर दावा ठोक रहा था लेकिन भाजपा ने उसे दो सीटों पर ही लड़ने के लिए मना लिया। अनुप्रिया पटेल मिर्जापुर सीट से चुनाव मैदान में उतरेंगी जबकि एक सीट कौन सी होगी इसका फैसला दोनों दलों के नेता मिलकर करेंगे।


पिछले चुनाव में अपना दल ने मिर्जापुर और प्रतापगढ़ सीटों पर चुनाव लड़ा और जीता था लेकिन बाद में प्रतापगढ़ सीट पर चुनाव जीतने वाले हरिवंश सिंह, अनुप्रिया पटेल की पार्टी से अलग अपनी पार्टी बना ली। अब अनुप्रिया पटेल के अपना दल (एस) को दूसरी सीट कौन सी मिलती है यह देखने वाली बात होगी।


यूपी में अब भाजपा को अपनी दूसरी सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के लिए सीट या फिर सीटें तय करना है। सुभासपा के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर पांच सीटों पर दावा करते रहे हैं लेकिन खबरें हैं कि भाजपा उन्हें भी दो ही सीटें देने वाली है।


ओम प्रकाश राजभर जिन पांच सीटों पर दावा कर रहे हैं वह अंबेडकरनगर, लालगंज, आज़मगढ़, मछली शहर, चंदौली हैं। खबरों के मुताबिक चंदौली सीट उन्हें मिल सकती है, उनके लिए दूसरी सीट कौन सी होगी यह सवाल काफी पेंचीदा है, क्योंकि पूर्वांचल में भाजपा में भी एक-एक सीट पर कई-कई दावेदार हैं। सुभासपा के लिए भाजपा कितनी और कौन सी सीट छोड़ेगी इसका फैसला शनिवार को भाजपा केंद्रीय कमेटी की बैठक में ले लिये जाने की संभावना है और एक-दो दिन में ही इसका ऐलान हो सकता है।