ताजमहल गुलामी की निशानी, इसे ध्वस्त करे: आजम खां

101
SHARE

पूर्व मंत्री आजम खां ने अपने आवास पर पत्रकारों से कहा कि ताजमहल गुलामी की निशानी है, इसे ध्वस्त किया जाना चाहिए। योगी जी इसे तोडऩे का फैसला लेंगे तो हम उनका सहयोग करेंगे। तोडऩे में हम उनके साथ चलेंगे। पर्यटन विभाग की पुस्तिका से ताज महल को हटाए जाने के फैसले का हम स्वागत करते हैं, लेकिन यह फैसला बहुत देर से हुआ और अधूरा है।

आजम ने कहा कि ताजमहल, कुतुबमीनार, दिल्ली का लाल किला, आगरा का किला, संसद भवन और राष्ट्रपति भवन गुलामी की निशानी हैं। ये चीजें रहनी ही नहीं चाहिए। मुगल हमारे भी पूर्वज नहीं हैं। कहां से आए थे मुगल। इतिहास को पढऩे से मालूम होता है। मुख्यमंत्री के पांच दिन गोरखपुर में रहने पर आजम खां ने कहा कि देश का दूसरे नंबर का बादशाह इतना धार्मिक हो ये अच्छी बात है। योगी जी वहीं से सरकार चलाएं तो वह ज्यादा पवित्र सरकार होगी।