29 जुलाई 2019, उत्तर प्रदेश की पांच बड़ी राजनीतिक खबरें

46
SHARE

1.उत्तर प्रदेश की नवनियुक्त राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने सोमवार को यूपी के राज्यपाल के तौर पर शपथ ली। राजभवन में आयोजित कार्यक्रम में हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस गोविंद माथुर ने उन्हें शपथ दिलाई। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के शपथ ग्रहण समारोह में यूपी के पूर्व राज्यपाल राम नाईक भी मौजूद रहे।

2. 70 साल के बाद यूपी को आनंदीबेन पटेल के तौर पर महिला राज्यपाल मिली हैं। आजादी के बाद सरोजनी नायडू यूपी की महिला गवर्नर बनीं थीं, उनके बाद आनंदी बेन पटेल राज्य की दूसरी महिला गवर्नर बनी हैं।

3. अपना पांच साल का कार्यकाल पूरा कर चुके पूर्व राज्यपाल राम नाईक ने राजभवन से जाने से पहले एक रुढ़ि को तोड़ दिया। वह आनंदीबेन पटेल के शपथ ग्रहण में मौजूद रहे और उनको चार्ज सौंपा। अब तक राज्यपाल, उत्तराधिकारी के आने से पहले ही चले जाते थे।

4. पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उन्नाव की घटना पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि बलात्कार की पीड़िता की हत्या का प्रयास प्रतीत होने वाली इस तथाकथित दुर्घटना से देश-प्रदेश की हर एक माँ, बहू, बेटी, बहन गहरे आघात में है। महिलाओं में इस घटना को लेकर जो रोष-आक्रोश है वो दोहरे चरित्रवाली सत्ता को बहुत मंहगा पड़ेगा।

5- सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी झारखंड विधानसभा की सभी 81 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी में है। झारखंड के रामगढ़ में एक कार्यक्रम में गए पार्टी अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि देश के नेता राजभर समाज को सिर्फ वोटबैंक के रूप में इस्तेमाल करते रहे हैं लेकिन समाज के भले के लिए कुछ नहीं करते। उन्होंने कहा कि समाज के लोग एकजुट हों तो ऐसे नेता पीछे दौड़ेंगे।