अब योगी सरकार के मंत्री ने हनुमान जी को बताया जाट

58
SHARE

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव खत्म हो गए लेकिन अभी भी हिंदुओं के आराध्य हनुमानजी की जाति बताने का सिलसिला जारी है। योगी सरकार में धर्मार्थ कार्य मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कहा है कि हनुमानजी का जैसा स्वभाव रहा है।
लक्ष्मी नारायण चौधरी ने उदाहरण देकर समझाया कि जिस तरह से जाट किसी के साथ अन्याय होने पर उसकी मदद के लिए कूद पड़ते हैं उसी तरह से हनुमानजी ने भगवान राम की मदद के लिए बिना कुछ सोचे-विचारे खुद को समर्पित कर दिया था।

उनका कहना था कि किसी के स्वभाव से पता करते हैं कि वह किस जाति का रहा होगा, जैसे कि महाराजा अग्रसेन को वैश्य समाज का माना जाता है क्योंकि वह खुद व्यापार करते थे वैसे ही जाटों का स्वभाव भी दूसरों की मदद करना है।

बताते चलें कि इससे पहले बीजेपी के विधायक बुक्कल नवाब ने हनुमानजी को मुसलमान बताया था क्योंकि मुसलमानों में रहमान, सुलेमान, फरहान, जीशान जैसे नाम रखे जाते हैं जोकि हनुमान की तर्ज पर हैं।

हनुमान जी की जाति बताने की शुरूआत खुद सीएम योगी आदित्यनाथ ने तब की थी जब पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के दौरान उन्होंने हनुमान जी को दलित जातियों से जोड़ा था। हालांकि उन्होंने बाद में सफाई दी थी कि उन्होंने हनुमानजी की जाति नहीं बताई, देवत्व इंसान के कृतित्व के भीतर ही होता है और किसी भी जाति का व्यक्ति देवत्व को प्राप्त कर सकता है।