कानपुर का कुख्यात बदमाश विकास दुबे उज्जैन में पकड़ा गया

56
SHARE

कानपुर में पिछले हफ्ते आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे को उज्जैन में गिरफ्तार कर लिया गया है। विकास दुबे उज्जैन में महाकाल के दर्शन के लिए पहुंचा था। उसे वहां पर सुरक्षा गॉर्ड ने पहचान लिया और बाद में पुलिस की मदद से उसे पकड़ लिया गया।

मध्य प्रदेश पुलिस ने यूपी पुलिस और एसटीएफ को इसकी जानकारी दे दी है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने लखनऊ से एसटीएफ का एक दल विकास दुबे को लेने भेजा है। कानूनी औपचारिकता के बाद एसटीएफ की टीम विकास दुबे को अपनी कस्टडी में लेगी।

महाकाल मंदिर प्रांगण के बाहर लखनऊ के रजिस्ट्रेशन नम्बर की एक गाड़ी मिली है जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि विकास दुबे काफी तैयारी के साथ आया था। गाड़ी की नम्बर प्लेट पर हाई कोर्ट लिखा हुआ है, और यह गाड़ी किसी मनोज यादव के नाम पर रजिस्टर्ड है।

विकास दुबे कानपुर की घटना के बाद भाग गया था। बाद में उसे हरियाणा के फरीदाबाद में एक होटल के CCTV कैमरे में देखा गया था, लेकिन पुलिस के पहुंचने से पहले वह वहां से फरार हो गया था। विकास दुबे लगातार छिपता फिर रहा था। पहले उसके नोएडा और फिर राजस्थान जाने की बात की जा रही थी। पुलिस ने NCR में लगातार छापेमारी की थी लेकिन विकास दुबे वहां पर भी नहीं मिला। सात दिन बाद उसे उज्जैन में पकड़ा गया है।

विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद उसका बैग भी जब्त किया। दर्शन करने से पहले दुबे ने अपना बैग फैसिलिटी सेंटर स्थित लॉकर रूम में रखा था। पुलिस ने इसे जब्त कर लिया। पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद भी उसकी हेकड़ी कम होती नहीं दिखी। मीडिया के सामने वह चिल्लाने लगा कि ‘मैं विकास दुबे हूं…कानपुर वाला’। इसके बाद पुलिस उसे चुप कराते हुए गाड़ी में बैठा कर ले गई।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से फोन पर बात की है। मध्य प्रदेश पुलिस विकास दुबे को उत्तर प्रदेश पुलिस को सौंप देगी। मध्य प्रदेश सीएम ने सीएम योगी आदित्यनाथ से बातचीत की जानकारी सार्वजनिक करते हुए कहा कि मैंने यूपी के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ से बात कर ली है। शीघ्र आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी