प्रवासी कामगारों के लिए रेलवे से बड़ी खुशखबरी

3
SHARE

कोरोना संकट में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के जरिए लाखों प्रवासी मजदूरों की घर वापसी हो चुकी है लेकिन जो लोग अब भी नहीं लौट पाए हैं और यूपी-बिहार लौटने की इच्छा रखते हैं तो ऐसे प्रवासियों के लिए खुशखबरी है। भारतीय रेलवे ने अब श्रमिक स्पेशल ट्रेनें बढ़ा दी हैं। रेल मंत्री पीयूष गोयल की बिहार के सीएम नीतीश कुमार और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से इस मुद्दे पर चर्चा हुई है।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बिहार के सीएम नीतीश कुमार से मेरी चर्चा हुई है। इस दौरान घर लौटने के इच्छुक फंसे हुए प्रवासी कामगारों को फौरन राहत पहुंचाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की संख्या बढ़ाने के मुद्दे पर बात हुई। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश ने श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के परिचालन को दोगुना करने की मंजूरी दी है।

पीयूष गोयल ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि, ‘मुझे यह बताते हुए बहुत खुशी है कि बिहार के प्रवासी श्रमिकों के बारे में वहां के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी के साथ मेरी सार्थक चर्चा हुई और उन्होंने कामगारों को घर पहुंचाने के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को 50 ट्रेन प्रतिदिन तक चलाने की स्वीकृति दी है।

इस बीच रेल मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि अब तक 1,400 से ज्यादा श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से करीब 18.5 लाख फंसे हुए प्रवासी मजदूरों- कामगारों, छात्रों और पर्यटकों को लाया जा चुका है। रेल मंत्रालय पहले ही कह चुका है कि प्रवासी मजदूरों को उनके राज्यों तक पहुंचाने के लिए रेलवे एक दिन में 300 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाने के लिए तैयार है।