बिहार भाजपा का जोरदार पलटवार, तेजस्वी को लापता और प्रशांत किशोर को कार्गो प्लेन से कोलकाता गया बताया

6
SHARE

बिहार भाजपा ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और चुनाव रणनीतिकार की भूमिका से राजनीति के मैदान में उतरे प्रशांत किशोर पर जोरदार हमला बोला है। तेजस्वी यादव लगातार और प्रशांत किशोर ने हाल में ही नीतीश सरकार पर कई आरोप लगाए। अब नीतीश सरकार में साझीदार भाजपा की तरफ से इन दोनों ही नेताओं पर जोरदार पलटवार किया गया है। भाजपा ने कार्टून्स के जरिए जवाब दिया है जिनमें तेजस्वी यादव को लापता बताते हुए कहा गया है कि वह आजकल ऐश कर रहे हैं तो प्रशांत किशोर के लिए कहा गया है कि वह छिप कर कार्गो प्लेन से कोलकाता चले गए हैं।

बिहार भाजपा के प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने नेता विपक्ष तेजस्वी यादव को घेरते हुए एक कार्टून जारी किया है जिसमें तेजस्वी यादव को गुमशुदा नेता विपक्ष बताते हुए उन्हें दिल्ली में बाथटब में लेटे हुए ड्रिंक्स के साथ दिखाया है। इस कार्टून में पूरे ऐशो-आराम के बीच तेजस्वी यह कहते हुए दिखाई दे रहे हैं कि अपने बिहारवासियों का बहुत चिंता है।

निखिल आनंद ने इस कार्टून को सोशल मीडिया पर शेयर किया है और इसे तेजस्वी यादव और आरजेडी नेता मनोज झा को भी टैग किया है. उन्होंने तंज कसते हुए तेजस्वी यादव की तरफ से एक बयान भी लिखा है कि लॉकडाउन के कारण दिल्ली में मनोज झा स्कुल ऑफ ट्वीटर पॉलिटिक्स का छात्र बन गया हूं। गुरू मनोज झा की शागिर्दी में ब्रह्मज्ञान की प्राप्ति से दिव्यदृष्टि मिली है जिससे मुझे दिल्ली में ऐशो-आराम फरमाते हुए भी बिहार में सबकुछ दिख रहा है।

भाजपा प्रवक्ता निखिल आनंद ने प्रशांत किशोर पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया है कि प्रशांत किशोर कार्गो प्लेन से कोलकाता चले गए हैं। इसके भी एक कार्टून जारी किया गया है जिसमें प्रशांत को सामान ले जाने वाले विमान में सामान के साथ छिपते दिखाया गया है।

निखिल ने इसके साथ ही लिखा है कि भाई प्रशांत किशोर जी! क्यों भूल जाते हैं कि आप चिट फंड या शेयर कंपनी में नहीं बल्कि राजनीति में हैं। सवाल तो पूछे ही जायेंगे लेकिन सवाल से डरकर या घबड़ाकर सन्यास लेने की जरुरत नहीं है! आप जवाब दीजिए कि लॉकडाउन में कार्गो फ्लाइट के सामान के साथ छुपकर दिल्ली से कोलकाता कैसे गए?

बताते चलें कि आरजेडी के मुताबिक तेजस्वी यादव दिल्ली में हैं, लॉकडाउन की वजह से वह वहीं फंसे हुए हैं। दिल्ली में होने की वजह से तेजस्वी सोशल मीडिया और प्रेस रिलीज के जरिए ही नीतीश सरकार पर निशाना साध रहे हैं। भाजपा की तरफ से पलटवार के बाद यह सियासी जंग और भी जोर पकड़नी तय है क्योंकि बिहार विधानसभा के चुनाव दिनोंदिन करीब आते जा रहे हैं और ऐसे में कोई भी पीछे नहीं रहना चाहेगा।