हार में महागठबंधन को अपनी कमी नहीं दिखी, उपेंद्र कुशवाहा बोले भाजपा की जीत बड़ी साजिश का नतीजा

110
SHARE

लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी की अगुवाई में एनडीए ने विराट जीत हासिल की वहीं एनडीए विरोधी दलों को बुरी हार का सामना रना पड़ा। बिहार में तो महागठबंधन की हालत यह रही कि 40 सीटों में से सिर्फ एक सीट कांग्रेस को नसीब हुई, बाकी के दल आरजेडी, आरएलएसपी, वीआईपी पार्टी, हम वगैरह खाता तक नहीं खोल सके। बहरहाल अब सभी मंथन कर रहे हैं कि ऐसा क्यों हुआ। बुधवार को महागठबंधन के नेताओं ने एक बैठक की और इसके बाद उपेंद्र कुशवाहा ने कहा है कि हार की प्रमुख वजह यह रही कि एनडीए जनता को गुमराह करने में कामयाब रहा और मीडिया ने भी असील मुद्दों को सामने नहीं रखा।

उपेंद्र कुशवाहा का कहना था कि बिहार में जैसे नतीजे आए वह बड़ी साजिश की वजह से आए जिसका हिस्सा मीडिया भी बन गया। कुशवाहा के मुताबिक एनडीए ने लोगों को गुमराह किया और मीडिया ने भी जनता से जुड़े शिक्षा, रोजगार, कृषि जैसे मुद्दे उठाने की बजाय एनडीए के मुद्दों को ही उठाया। इस बैठक में शामिल होने कांग्रेस का कोई नेता नहीं पहुंचा। रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा, शरद यादव, वीआईपी अध्यक्ष मुकेश सहनी और हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के नेता इस बैठक में मौजूद रहे।

इस बैठक में शामिल आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि यह हार अंतिम नहीं है, महागठबंधन एकजुट रहेगा और फिर से जनता के बीच जाएगा। इससे पहले मंगलवार को भी आरजेडी नेताओं की बैठक हुई थी। इस बैठक में कहा गया कि भाजपा ने महागठबंधन के खिलाफ बड़ा षड्यंत्र रचा था। तेजस्वी यादव ने कहा कि आरजेडी के सीनियर लीडर जगदानंद सिंह की अगुवाई में तीन सदस्यी टीम जनता के बीच जाकर हार के कारणों की समीक्षा करेगी।