कभी सोया करते थे मंदिर के बाहर, आज अफ्रीका में 4500 करोड़ के मालिक

104
SHARE
 जब भी विदेशों में रहने वाले इंडियन बिजनेसमैनों की बात होती है तो उसमें पहला नाम ‘गुजरातियों’ का ही आता है। गुजरात में ऐसे दो-चार नहीं, बल्कि अनगिनत लोग हैं, जो खाली हाथ विदेश पहुंचे और अपनी मेहनत से मुकाम हासिल कर लिया। इन्हीं में से एक नाम नरेंद्र रावल का भी आता है। गुजरात के हलवद में रहने वाले रावल कभी मंदिर में पुजारी हुआ करते थे और मंदिर के बाहर ही सोया करते थे, लेकिन आज वे केन्या के नामी बिजनेसमैनों में से एक हैं।
इतना ही नहीं, फोर्ब्स की सूची में अफ्रीका के रिचेस्ट 50 लोगों में उनकी गिनती होती है। नरेंद्र रावल की इस समय केन्या के अलावा साउथ अफ्रीका के कई देशों में स्टील और सीमेंट की फैक्ट्रियां हैं। करीब 4500 करोड़ रुपए की नेटवर्थ वाले नरेंद्र रावल सामाजिक कार्यो के लिए भी अफ्रीका में फेमस हैं। उन्हें केन्या के सर्वोच्च अवॉर्ड ‘Elder of Burning Spear’ से भी सम्मानित किया जा चुका है।